Astro Articles

चन्द्रमा के साथ किन ग्रहों की युति का क्या कुछ शुभ फल भी होता है? आइये जानें ।। With the Moon in which some auspicious planetary conjunction occurs? Let us. Astro Classes, Silvassa.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz.

चन्द्रमा के साथ किन ग्रहों की युति का क्या कुछ शुभ फल भी होता है? आइये जानें ।। Astro Classes, Silvassa.


मित्रों, चन्द्रमा को मन का कारक ग्रह कहा गया है । तो आज हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे, की अगर आपकी कुण्डली में चन्द्रमा किसी ग्रह के साथ बैठा हो तो क्या कुछ आपके लिए शुभ कर सकता है ? क्योंकि अशुभ योगों जैसे राहू + चन्द्र ग्रहण दोष आदि-आदि के विषय में तो आपलोगों ने बहुत पढ़ा और सुना होगा । तो आज हम इन ग्रहों की युति के फलस्वरूप क्या कुछ शुभ भी होता है ? ये जानने का प्रयास करेंगे ।।

चन्द्र व सूर्य की युति ।।

अगर आपकी कुण्डली में चन्द्र के साथ सूर्य विराजमान है तो आप एक अच्छे कुटनीतिज्ञ होंगे । इस युति के प्रभाव के कारण आपकी वाणी में नम्रता व कोमलता की कमी हो सकती है । तथा आप अभिमानी हो सकते हैं जिससे लोगों के प्रति आपका व्यवहार रूखा हो सकता है । इन स्थितियों में सुधार के लिए आपको चन्द्र के उपाय करना चाहिए ।।

चन्द्र व मंगल की युति ।।

कुण्डली में मंगल के साथ चन्द्र का स्थित होना यह संकेत देता है कि परिणाम की चिंता किए बगैर आप अपने कार्य में जुट जाते हैं । जो कभी-कभी आपके लिए परेशानियों का भी कारण बन जाता है । आपकी कुण्डली में चन्द्र मंगल की युति है तो वाणी पर नियंत्रण रखना आपके लिए बहुत ही आवश्यक हो जाता है । क्योंकि, बोल चाल में आप आक्रोशित होकर ऐसा कुछ बोल सकते हैं जिनसे लोग आपसे नाराज़ हो सकते हैं ।।

चन्द्र व बुध की युति ।।

चन्द्र के साथ बुध की युति शुभ फल देने वाली होती है । अगर आपकी कुण्डली में इन दोनों ग्रहों की युति बन रही है तो आप कूटनीतिज्ञ हो सकते हैं । अपनी वाणी से लोगों को आसानी से आकर्षित कर लेते हैं । लोगों का दिल जितना आपको अच्छी तरह आता है । इस कला के वजह से व्यावसायिक क्षेत्रों में आपको अच्छी सफलता मिल सकती है ।।

चन्द्र व गुरू की युति ।।

कुण्डली में चन्द्र के साथ गुरू की युति होना यह बताता है कि आप ज्ञानी होंगे । आपको शिक्षक एवं सलाहकार के रूप में अच्छी सफलता मिलेगी । लेकिन, आपको इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि मन में अभिमान की भावना नहीं आये । इसके अलावा आपको यह भी ध्यान रखना होगा कि बिना मांगे किसी को सलाह न दें । क्योंकि बिना मांगे दी गई सलाह के कारण लोग आपसे दूरियां बनाने लगेंगे ।।

चन्द्र व शुक्र की युति ।।

ज्योतिषशास्त्र की मान्यता है कि जिस व्यक्ति की कुण्डली में चन्द्रमा शुक्र के साथ युति सम्बन्ध बनाता है । वह जातक अधिकांशतः सौन्दर्य प्रिय होते हैं । अगर आपकी कुण्डली में भी इन दोनों ग्रहों का युति सम्बन्ध बन रहा है तो हो सकता है कि आप अधिक सफाई पसंद व्यक्ति होंगे । कला के क्षेत्रों से आपका लगाव रहेगा । आप लेखन में भी रूचि ले सकते हैं । अत: आपको आलस्य से दूर रहना चाहिए । दिखावे की प्रवृति से भी आपको बचना चाहिए । सुखों की चाहत के कारण आप थोड़े आलसी हो सकते हैं ।।

चन्द्र व शनि की युति ।।

चन्द्रमा के साथ बैठा शनि यह दर्शाता है कि व्यक्ति ईमानदार, न्यायप्रिय एवं मेहनती है । अगर आपकी कुण्डली में चन्द्र व शनि की यह स्थिति बन रही है तो आप भी परिश्रमी होंगे और मेहनत के दम पर जीवन में कामयाबी की तरफ अग्रसर होंगे । न्यायप्रियता के कारण अन्याय के विरूद्ध आवाज उठाने से पीछे नहीं हटेंगे । इस युति के प्रभाव के कारण कभी-कभी आप निराशावादी भी हो सकते हैं जिससे मन दु:खी हो सकता है अत: आशावादी बने रहना चाहिए ।।

चन्द्र व राहु की युति ।।

इन दोनों ग्रहों की युति कुण्डली में होने पर व्यक्ति रहस्यमयी विद्याओं में रूचि रखते हैं. अगर आपकी कुण्डली में यह युति बन रही है तो शिक्षा प्राप्त कर आप वैज्ञानिक आदि बन सकते हैं । शोध कार्यों में आपको अच्छी सफलता भी मिल सकती है ।।

चन्द्र व केतु की युति ।।

कुण्डली में चन्द्र के साथ केतु की युति होने पर व्यक्ति को समझ पाना कठिन होता है । क्योंकि ऐसा व्यक्ति कब क्या कर बैठे यह समझना बहुत ही मुश्किल होता है । अगर आपकी कुण्डली में यह युति बन रही है तो आपके लिए उचित होगा किसी भी कार्य को करने से पूर्व उस पर अच्छी तरह विचार कर लें । अन्यथा अपने कार्यों के कारण आपका मन दु:खी हो सकता है । वैसे, आप में अच्छी बात यह है कि अपनी ग़लतियों से सबक लेंगे और अपने आस-पास की बुराईयों को दूर करने की कोशिश करेंगे ।।

अगली चर्चा में हम इन उपर्युक्त ग्रहों के मिलने से क्या कुछ हानि होता है, ये हम आप सभी को बताएँगे ।।



==============================================

किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

==============================================

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

==============================================

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap+ Viber+Tango & Call: +91 - 8690522111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

Website :: www.astroclasses.com
www.astroclassess.blogspot.in
www.facebook.com/astroclassess


।। नारायण नारायण ।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.