Astro Articles

पुरानी से पुरानी बीमारी, जड़ से जड़ रोग भी दूर करने के आसान एवं सहज उपाय ।। Disease Prevention Tips.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,


 Astro Classes, Silvassa.

मित्रों, जब कोई लम्बी बीमारी से ग्रसित हो अथवा काफी दिनों से बीमार हो तो उसकी बीमारी को ठीक करने के लिए कुछ उपाय तो हम कर ही सकते हैं । जब हर प्रकार के इलाज करवाकर हम थक जाते हैं, जब कोई अन्य मार्ग नहीं सूझता तब इन उपायों को आजमाने में हर्ज ही क्या है ?

कुछ वैदिक उपायों के माध्यम से वैदिक देवताओं की प्रार्थना, उनकी अर्चना, उनका पूजन श्रद्धापूर्वक अगर हम करें तो अवश्य ही हमें हमारी आवश्यकता के अनुसार उसका उचित फल मिलेगा । क्योंकि भावमिच्छन्तु देवताः = देवता तो केवल भावों के भूखे होते हैं । और मैं मेरा अनुभव आपलोगों को बताऊँ तो आप कोई दवा या औषधि भगवान का नाम लेकर अथवा उनकी प्रार्थना करके उनकी आराधना समझकर ग्रहण किया जाय तो वही औषधि भरपूर लाभ देगा ।।

तो आइये हम आपलोगों को कुछ ऐसे टिप्स बताते हैं, जिसे करके, भगवान करें आपको स्वास्थ्य लाभ हो जाय । किसी व्यक्ति की बीमारी का इलाज करवाकर आप अगर थक चुके हैं, तो एक तांबे का कलश जिसमें गंगाजल भरा हो, उसपर एक नारियल रखें पर लाल कपड़ा बाँधा हो किसी मन्दिर में स्थापित करें । अब रोगी के स्वास्थ्य लाभ का संकल्प करें और रोगी के ठीक होने तक नारियल मंदिर में ही स्थापित रहने दें ।।

मित्रों, यदि आपकी कुण्डली में कोई इस प्रकार की गम्भीर बीमारी का दोष हो तो उसके निवारक यंत्रों को स्थापित कर फूल व प्रसाद अर्पण करके यथाविधि पूजन करने से रोगी जल्दी ठीक हो जाता है । घर मे नव ग्रह शांति का हवन करवायें एवं ब्राह्मणों को भोजन करवायें । घर के मंदिर में स्थापित सभी मूर्तियो को गंगाजल व कच्चे दूध से पुन: प्राण प्रतिष्ठा करवाना चाहिए ताकि नई उर्जा का प्रवाह शुरू हो और आपके घर से रोग शीघ्र ही गायब हो जायेगा ।।

घर में तुलसी का पौधा अवश्य होना चाहिए अगर न हो तो शीघ्र लगायें और पौधे के सामने प्रतिदिन सायंकालीन बेला में तिल के तेल का दीपक जलाने एवं सुबह जल चढ़ाने से मनोकामना अतिशीघ्र पूरी होती हैं । दोष निवारक रुद्राक्ष रोगी को धारण करवायें (इस विषय में अधिक जानकारी हेतु हमारे वेबसाइट पर जाएँ) इससे मुश्किल रोग भी जल्द ठीक हो जायेगा ।।

अश्विनी कुमारों का पूजन करें, मीठे नैवेद्य का भोग लगायें एवं शिव सहस्रनाम अथवा शिव अष्टोत्तरशत नाम (108 नामावली) का जप करें । कोई व्यक्ति किसी रोग से ग्रसित हो तो उसे रात को सोते समय अपना सिरहाना पूर्व की ओर रखना चाहिए । रोगी के सोने के कमरे में एक काँच की कटोरी में सेंधा नमक के कुछ टुकड़े रखने चाहिएँ । रोगी का स्वास्थ जल्दी ठीक हो इसके लिए ब्राह्मी, पलाश, अर्जुन, आंवला व सूरजमुखी का वृक्ष लगाने चाहिए ।।

=============================================
=============================================
वास्तु विजिटिंग के लिए तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति हेतु संपर्क करें ।।
=============================================
=============================================
किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।
=============================================
=============================================

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

Contact to Mob :: +91 - 8690522111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

Website :: www.astroclasses.com
www.astroclassess.blogspot.com
www.facebook.com/astroclassess

।। नारायण नारायण ।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.