Vastu Articles

वास्तुदोष और उसके निवारण के सरल उपाय ।। Vastudosh Nivaran ke Upaya. पार्ट-१.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, अगर आपके घर के पास कोई नाला या कोई नदी हो जो उत्तर-पूर्व को छोड़कर किसी और दिशा में बहती हो अथवा उसका घुमाव घडी की दिशा में हो तो आप अपने घर के प्रवेश द्वार पर "स्वस्तिक अथवा ऊँ" की आकृति बनायें इससे घर-परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी ।। 

जिस भूखंड या मकान पर मंदिर की पीठ पड़ती है, वहां रहने वाले दिन-ब-दिन आर्थिक व शारीरिक परेशानियों से घिरते ही जाते हैं । ऐसी स्थिति में आर्थिक समृद्धि हेतु अपने घर के ईशान कोण में पानी का एक कलश भरकर सदैव रखना चाहिए ।।

मित्रों, जिस घर में सूर्य की रोशनी भरपूर नहीं आता है, वहाँ का वातावरण प्रायः नकारात्मकता से भरा ही रहता है । इसलिए घर की आंतरिक साज-सज्जा ऐसी होनी चाहिए कि घर में प्रकाशमय वातावरण बना रहे तथा बाहर से ऐसी व्यवस्था रखें कि सूर्य की रोशनी घर में पर्याप्त मात्रा में प्रवेश करे ।।

घर में कलह अथवा अशांति का वातावरण हो तो ड्राइंग रूम में फूलों का गुलदस्ता रखना श्रेष्ठ होता है । अशुद्ध वस्त्रों को घर के प्रवेश द्वार के मध्य में नहीं रखना चाहिए । वास्तु के अनुसार तो रसोईघर में देवस्थान भी नहीं होना चाहिए ।।

मित्रों, किसी गृहस्थ व्यक्ति को अपने बेडरूम में भगवान के चित्र अथवा धार्मिक महत्व की वस्तुएं नहीं भी रखनी चाहिए । घर के मंदिर को अथवा मंदिर की दीवार को भी घर के शौचालय की दीवार से सटाकर कदापि भूलकर भी नहीं रखना चाहिए ।।

घर के ईशान कोण में पश्चिम की ओर मुख किए हुए नृत्य करते हुए गणेशजी की मूर्ति रखना चाहिए । इससे घर का लगभग आधे से ज्यादा वास्तु दोष का निवारण हो जाता है ।।

मित्रों, यदि घर के अन्दर से दूषित जल को निकलने का जगह अथवा बोरिंग गलत दिशा में हो तो अपने घर में दक्षिण-पश्चिम की ओर मुख किए हुए एक पंचमुखी हनुमानजी की तस्वीर लगाएं इससे ये दोष निवृत्त हो जाता है ।।

यदि आपके घर के ऊपर से विद्युत तरंगे (इलेक्ट्रिक वायर) गुजरती हो तो इन तारों से प्रवाहित होने वाली ऊर्जा का घर से निकलने वाली ऊर्जा से प्रतिरोध होता है । ऐसे में नीबूओं से भरी प्लास्टिक की एक पाईप को फर्श के नीचे जमीन में दबा दें ।।

मित्रों, घर में उस पाईप को अपने दरवाजे अथवा दीवार के इस पार से उस पार बिछा दें । नीबूओं से भरी पाईप दोनों ओर कम-से-कम तीन फिट बाहर निकली रहे । ऐसा करने से आपके घर के अन्दर सकारात्मक उर्जा का आगमन एवं नकारात्मक उर्जा का निकास हो पायेगा ।।

==============================================
वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

==============================================

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

==============================================

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap+ Viber+Tango & Call: +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

Website :: www.astroclasses.com
www.astroclassess.blogspot.com
www.facebook.com/astroclassess
।। नारायण नारायण ।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.