Mantra Totka

एक ऐसा जानवर जो देता है संकेत की आपका भाग्योदय होगा या मृत्यु अथवा मृत्यु तुल्य कष्ट : शकुन-अपशकुन ।। Bhagyoday Or Mrityu, Shakun-Apshakun.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,


मित्रों, कुछ ऐसा अनुभव हमारे पूर्वजों का, जो हमें सुखी जीवन के लिये संकेत देते हैं । हम माने या न माने हमारे जीवन की घटनाओं को हम मिटा नहीं सकते । हाँ अवश्य ही हम उसके संकेत को समझ जाएँ तो उससे सावधान अवश्य ही हो सकते हैं । उससे बचने का उपाय अवश्य ही कर सकते हैं ।।

हम हमारे जीवन में आनेवाले कष्टों अथवा मृत्यु एवं मृत्यु तुल्य कष्टों को जानकर उसके प्रभाव को हल्का अवश्य कर सकते हैं । जैसे प्रबल मारकेश की दशा में भी हम जीवित बच जायें कोई उपाय करके तो ये बहुत ही बड़ी उपलब्धि होती है ।।

हम बहुत ही बड़े भाग्यशाली हैं, जो हमारे पूर्वजों ने हमें इस प्रकार की विद्या हमारे लिये दिया है अपने अनुभवों के रूप में । इस विद्या के रहते हुये भी कुछ लोग अभागे हैं, जो इसे पाखण्ड या बेकार कह कर इसका लाभ नहीं ले पाते हैं ।।

आइये आज हम कुछ इसी प्रकार के विषय में चर्चा करते हैं । एक ऐसा जानवर जिसे छिपकली कहते हैं, जो सदैव हमारे जीवन में मौजूद रहती है और जिसे देखकर भी हम अनदेखा कर देते हैं । लेकिन इसका एक इशारा आपको बहुत कुछ संकेत के रूप में देता है ।।


मित्रों, आज हम आपको शकुन शास्त्र के अनुसार छिपकली से होनेवाले शकुन-अपशकुन के विषय में बतलाते हैं । अगर आप अपने नये घर में प्रवेश कर रहे हों और उस समय आपको (गृहस्वामी) को कोई मरी हुई अथवा मिट्टी में सनी हुई छिपकली दिख जाय तो उस घर में निवास करने वाले लोग रोगी होते हैं ।।

इस दोष की निवृत्ति के लिये पूरे विधि-विधान से पूजन करने के बाद ही नये मकान में रहने के लिये जाना चाहिए । अगर छिपकलियाँ समागम करती हुई दिख जायें तो किसी पुराने मित्र से मिलना हो सकता है । लड़ती दिखे तो किसी के साथ झगड़ा होना तय है ।।

मित्रों, अगर दो छिपकलियाँ एक-दुसरे से दूर जाती हुई दिखे तो अपने किसी प्रियजन से बिछुडऩे का दु:ख सहन करना पड़ सकता है । यदि दोपहर के भोजन के समय यदि किसी छिपकली की आवाज सुनाई दे तो शीघ्र ही कोई शुभ समाचार मिल सकता है या फिर कोई शुभ फल प्राप्त हो सकता है ।।

वैसे तो ज्यादातर छिपकलियाँ रात के समय ही बोलती है परन्तु अगर दिन में बोले और आपको सुनाई दे तो आपका नसीब । छिपकली अगर माथे पर गिर जाय तो संपत्ति मिलने की संभावना बनती है । यदि छिपकली आपके खुले-बिखरे केशों पर गिरे तो आपके मृत्यु को सामने खडे होने का संकेत है ।।


मित्रों, दाहिने कान पर छिपकली का गिरना अर्थात आभूषण की प्राप्ति होगी । बायें कान पर छिपकली का गिरना अर्थात आयु की वृद्धि होना । नाक पर छिपकली गिरना अर्थात जल्द ही भाग्योदय होगा । मुख पर छिपकली का गिरना अर्थात मधुर भोजन की प्राप्ति होन तय है ।।

बायें गाल पर छिपकली का गिरना अर्थात पुराने मित्र से मुलाकात होगी । दाहिने गाल पर छिपकली का गिरना अर्थात आपकी उम्र बढ़ेगी । गर्दन पर छिपकली के गिरने का मतलब यश की प्राप्ति होगी । दाढ़ी पर छिपकली गिरने का मतलब आपके सामने जल्द ही कोई भयावह घटना हो सकती है ।। 

मित्रों, मूंछ पर छिपकली गिरना यानी सम्मान की प्राप्ति होगी । भौंह पर छिपकली गिरना यानी धन की हानि । दाहिनी आंख पर छिपकली गिरने का मतलब किसी दोस्त से मुलाकात होगी । बाईं आंख पर छिपकली गिरने का अर्थ है, कि बहुत ही जल्द कोई बड़ी हानि होगी ।।

कंठ पर छिपकली गिरने का मतलब शत्रुओं का नाश होगा । दाहिने कंधे पर छिपकली गिरने पर विजय की प्राप्ति होती है । बायें कंधे पर अगर छिपकली गिरे तो नये शत्रु बनते हैं । दाहिनी भुजा पर छिपकली गिरे तो धन लाभ, बायीं भुजा पर छिपकली गिरे तो संपत्ति छिनने की आशंका बढ़ जाती है ।।


मित्रों, दाहिनी हथेली पर छिपकली गिरने से कपड़े मिलते हैं । बाईं हथेली पर छिपकली गिरने पर धन की हानि होती है । छाती के दाहिनी ओर छिपकली गिरने से जल्द ही ढेर सारी खुशियां मिलती हैं जबकि बाईं ओर गिरने से घर में क्लेश बढ़ता है । पेट पर छिपकली गिरने से आभूषण की प्राप्ति होती है ।।

कमर के बीच में अगर छिपकली गिरे तो आर्थिक लाभ होता है । पीठ पर दाहिनी ओर छिपकली गिरने से सुख मिलता है । बायीं ओर छिपकली गिरने का मतलब रोग का दस्तक देना है । पीठ पर बीच में अगर छिपकली गिरती है तो घर में कलह होती है ।।

मित्रों, नाभि पर छिपकली गिरने से मनोकामनायें पूर्ण होती हैं । दाहिनी जांघ पर छिपकली गिरने से सुख मिलता है । बायीं जांघ पर छिपकली गिरने से दु:ख ही दु:ख अर्थात शारीरिक पीड़ा होती है । दाहिने घुटने पर छिपकली गिरने से यात्रा का संयोग बनेगा । बायें घुटने पर छिपकली गिरने का मतलब बुद्धि की हानि है ।।

दायें पैर अथवा दाहिनी एड़ी पर छिपकली गिरना अर्थात यात्रा से लाभ मिलता है । बायें पैर या बायीं एड़ी पर छिपकली गिरने से बीमारी या घर में कलह होगी दु:ख मिलेगा । दाहिने पैर के तलवे पर छिपकली गिरने का मतलब ऐश्वर्य की प्राप्ति है । बायें पैर के तलवे पर छिपकली गिरने का मतलब व्यापार में हानि होगी ।।


=======================================

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

==============================================

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

==============================================

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap+ Viber+Tango & Call: +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com


वेबसाईट.  ब्लॉग.  फेसबुक.  ट्विटर.  भागवत कथा.


।।। नारायण नारायण ।।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.