Astro Video

राजयोग चतुर्थ खण्ड एवं उसका फल. RajYoga Part-4 And His Fal.

पराशरहोराशास्त्रम् अध्याय-20, राजयोगादिफलाध्यायः । राजयोग चतुर्थ खण्ड एवं उसका फल. Horashastra Lession-20 RajYoga Part-4 And His Fal.



मित्रों, इस विडियो में बृहत्पाराशरहोराशास्त्रम् के अध्याय-20वें में वर्णित राजयोग चतुर्थ खण्ड अर्थात् श्लोक संख्या ५ एवं उसके फल की विस्तृत चर्चा की गयी हैं ।।

राजयोग चतुर्थ खण्ड एवं उसके फल का विस्तृत वर्णन बृहत्पाराशर होराशास्त्रम् के 20वें अध्याय में किया गया हैं । राजयोगादिफलाध्यायः में राजयोग के सभी महत्वपूर्ण विषयों का विस्तृत वर्णन किया गया है ।।

अति दरिद्र घर में जन्म लेने वाला जातक भी अपने जीवन में इन योगों के वजह से कैसे जीवन के सर्वोच्च ऊँचाई पर पहुँच जाता है, इस बात का विस्तृत वर्णन है । तो आइये जानें इस विडियो टुटोरियल में राजयोग चतुर्थ खण्ड में श्लोक नंबर 5 एवं उसके फल के विषय में -

www.astroclasses.com

जन्म कुण्डली बनवाने, दिखाने एवं पढ़ने के लिए तथा वास्तु विजिटिंग के लिए सम्पर्क करें. मोबाइल नंबर - 08690 522 111.

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.