Mantra Totka

शनिवार का यह पूजन जीवन में अतुलनीय धन दिलाएगा, करें यह उपाय ।।

शनिवार का यह पूजन जीवन में अतुलनीय धन दिलाएगा, करें यह उपाय ।। Shanivar Ka Pujan, Dilayega Atulniya Dhan.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,


मित्रों, धन प्राप्ति के लिये आज मैं कुछ ऐसे टिप्स आपलोगों को बताऊंगा जो आपने शायद ही पहले कभी सुना या पढ़ा हो । यह शनिदेव से सम्बंधित जीवन की सर्वोच्च स्थिति तक पहुँचाने वाला उपाय है । शनिदेव क्योंकि दण्डाधिकारी एवं न्याय के देवता कहे जाते हैं । इसलिये ये तो अकाट्य सत्य है की गलत करनेवालों के लिये शनिदेव दण्ड देने वाले ही होंगे ।।

लेकिन फिर भी आज मैं आपलोगों को कुछ ऐसा उपाय बताता हूँ, जिसे करने से शनिदेव प्रशन्न होकर शुभ फल देते ही हैं । लोग हनुमान जी की उपासना से शनिदेव को डराकर शुभ फल पाना चाहते हैं । ये सर्वथा उचित है की आप किसी भी देवता का पूजन करें । लेकिन किसी को डराने के लिये किसी का उपयोग करें, ये तो अच्छी बात नहीं है ।।


मित्रों, आप किसी को प्रशन्न करने के लिये पूजा करें ये तो बहुत ही अच्छी बात है । अगर आपको शनिदेव से डर अथवा खतरा महशुश हो रहा है, तो आप स्वयं शनिदेव से क्षमायाचना कर सकते हैं । ऐसा करने में संकोच किस बात का है । ग्रह दोष निवारण विधी ब्राह्मणों से करवा सकते हैं, आप शनिदेव के मन्त्रों का निश्चित संख्यानुसार जप करवाकर हवन करवा सकते हैं, जिससे शनिदेव की कृपा प्राप्त होती है ।।



शनिदेव की कृपा प्राप्त करने के लिये बहुत से उपाय हमारे शास्त्रों में वर्णित है, जिसे आप कर सकते हैं । फिर हनुमानजी की ही पूजा क्यों ? और वो भी शनिदेव को डराने के लिये । इतना ही नहीं डराकर शुभ फल भी पाना चाहते हैं । आपको साधारण सा एक उपाय बता हूँ, जिसे करके आप शनिदेव की पूर्ण कृपा प्राप्त कर सकते हैं ।।

मित्रों, करना ये हैं, कि किसी भी शनिवार की शाम को थोड़ी सी उड़द की दाल ले लेवें । उन दाल के दानों पर थोड़ी सी दही और सिंदूर रख लेवें । ये किसी एक पत्तल की दोनी (कटोरी जैसी) में रखकर किसी पीपल वृक्ष के नीचे रख देवें । रखकर वहां से आ जायें और वापस आते समय पीछे मुड़कर नहीं देखें । यह क्रिया शनिवार को ही शुरू करें और नियमित रूप से ७ शनिवार तक करें । शनिदेव की कृपा से धन की प्राप्ति होगी इसमें कोई संशय नहीं है ।।


यदि यह प्रयोग आप अगर चारों में से किसी नवरात्री वाले शनिवार की शाम को करें तो आपकी समस्त परेशानियाँ समाप्त हो जायेंगी । आपकी आर्थिक और मानसिक सभी समस्यायें दूर होंगी और शनिदोष भी शान्त हो जायेगा । आप हनुमान जी का भी पूजन कर सकते हैं शनिदोष निवृत्ति हेतु । परन्तु हनुमान जी से प्रार्थना ये करें कि अपने मित्र शनिदेव से हमारी समस्याओं को दूर करवायें ।।



मित्रों, रावण ने लंका में शनिदेव को बन्धक बना लिया था । हनुमान जी जब लंका जला रहे थे, तब उन्होंने शनिदेव को मुक्ति दिलायी थी । इसका अर्थ ये नहीं की शनिदेव अपनी न्याय प्रक्रिया को बदल देंगे अथवा हनुमान जी बदलवा देंगे । हाँ प्रार्थना ऐसी चीज होती है, जिसके माध्यम से व्यक्ति के जीवन में परिवर्तन करने के लिये देवता भी बाध्य हो जाते हैं ।।

नवरात्रि में शनिवार की रात को हनुमानजी या शिवलिंग के समाने तेल का दीपक जलायें । ऐसा करने से धन से जुड़ी आपकी सभी समस्यायें आसानी से दूर हो जायेंगी । जो लोग प्रतिदिन रात के समय शिवलिंग के सामने दीपक जलाते हैं उन्हें स्थिर लक्ष्मी की प्राप्ति होती है । नवरात्रि में शनिवार को जो भी व्यक्ति हनुमान चालीसा अथवा सुन्दरकाण्ड का पाठ करता है, उसे सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है ।।


मित्रों, ऐसा करने से शनिदेव भी मित्रता के नाते हनुमानजी के भक्तों को उनकी छोटी-मोटी गलतियों को माफ़ कर देते हैं । शनिवार के दिन बजरंग बली को सिंदूर और चमेली का तेल अर्पित करें इससे भी शनिदोष समाप्त हो जाता है । शनिदेव की प्रशन्नता के लिये सबसे सरल उपाय है शनिवार को तेल का दान करना । तेल दान करने से पहले उसमें अपना चेहरा देखकर दान दें ।।



चेहरा देखने के बाद यह तेल किसी मंदिर में दान करें या शनिदेव को अर्पित कर दें । यह उपाय प्रत्येक शनिवार को करें तो अनेकों कष्टों से शनिदेव आपकी रक्षा करते हैं । इसमें कोई संशय नहीं है और शनिदेव पूर्ण कृपा भी बरसाते हैं । जिससे आपके जीवन में सुख-समृद्धि, शान्ति एवं धन-धान्य से परिपूर्ण जिन्दगी प्राप्त होती है ।।


=============================================


वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।


==============================================


किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।


==============================================


संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।










।।। नारायण नारायण ।।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.