Home Vastu Tips

वास्तुदोष और उसके निवारण के सरल उपाय ।। Vastudosh Nivaran ke Upaya. Part-5.

वास्तुदोष-कारण, निवारण और उपाय।। Vastudosh cause, prevention and measures. पार्ट-5.


हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, घर में वास्तुदोष होने पर, उचित यही होता है कि उसे वास्तुशास्त्र के अनुसार ठीक कर ले । यथासंभव घर के अंदर तोड़-फोड़ ना करे; इससे वास्तुभंग का दोष होता है । वैसे तो हर व्यक्ति अपने घर को खूबसूरत रखना चाहता है ।।

सजा-सजाया हुआ घर व्यक्ति के व्यक्तित्व में चार चांद लगा देता है । सुंदर घर सभ्य और सुशिक्षित होने का सबूत भी माना जाता है । आज के युवा ड्राइंग रूम और लिविंग रूम को सजाने में काफी दिलचस्पी लेने लगे हैं ।।

मित्रों, घर को सजाना कोई फैशन नहीं है, बल्कि आज के समय में एक जरूरत भी बन गया है । यदि हम घर की सजावट, रंग-रोगन आदि ज्योतिष एवं वास्तु के नियमों के अनुसार करें तो घर की सुंदरता तो बढ़ेगी ही, हमारे घर-आंगन खुशियों से भी भर जाएंगी ।।


उदहारण के तौर पर पूजा घर में फर्श के लिए हल्के पीले या सफेद रंग के संगमरमर का उपयोग श्रेष्ठ माना है । उस कक्ष की दीवारों या पर्दों का रंग भी सफेद, हल्का पीला, हल्का क्रीम, हल्का आसमानी रखना चाहिए ।।

मित्रों, वैसे हल्का नारंगी, केसरिया अथवा भगवा रंग भी पूजा घर में अच्छा लगता है । इन रंगों का इस्तेमाल करने से पूजा घर का वातावरण शुभ कल्याणप्रद हो जाता है ।।

घर के वास्तुदोष के निवारण हेतु कुछ प्रभावी प्रयोग बता रहा हूँ, जिसे आप स्वयं कर सकते हैं । मित्रों, जिस घर में सात्विक वातावरण होता है वहाँ नकारात्मक उर्जा का प्रवेश नहीं होता ।।

मित्रों, सकारात्मक उर्जा घर में बनी रहे इसके लिए आप अपने घर में शास्त्रों, पुराणों, उपनिषदों, वेद मन्त्रों की सीडी अथवा श्रीरामचरितमानस का पाठ कर सकते हैं जिससे घर के वास्तुदोष का निवारण होता है ।।


घर में कभी-कभी कीर्तन आदि का आयोजन करने-कराने से भी वास्तुजनित दोषों का निवारण होता है । हमारे वास्तुविदों द्वारा एक प्रभावी टोटका बताया गया है, की मुख्य द्वार के उपर सिंदूर से नौ अंगुल लंबा नौ अंगुल चौड़ा स्वास्तिक का चिन्ह बनाने चाहियें ।।

क्योंकि मित्रों, ये चिन्ह वास्तुदोष का निवारण करता है । घर में जिस जगह भी वास्तु दोष हो वहां इस चिन्ह को बनायें, वास्तुदोष का निवारण हो जाता है ।।

==============================================

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

==============================================

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

==============================================

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।


WhatsAap & Call: +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

वेबसाइट.  ब्लॉग.  फेसबुक.  ट्विटर.


।।। नारायण नारायण ।।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.