My Articles

कैसे ज्ञात करें गडा हुआ धन ।। Gada Huaa Dhan Kaise Gyat Karen.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, कई बार हमें किसी स्थान पर गडे हुये धन के होने का अन्देशा होता है । बिना किसी ठोस आधार एवं दिव्य ज्ञान के उस स्थान को खोदने की गलती भी कभी-कभी हम कर बैठते हैं, जो नहीं करनी चाहिये ।।


ऎसे किसी भी संदेह की स्थिति में नित्य संध्याकाल के समय जहां धन का अंदेशा हो वहां एक शुद्ध घी का दीपक जिसमें एक लौंग भी हो, जलाना चाहिये ।।

ऎसा लगातार 40 दिनों तक करने से इन 40 दिनों के भीतर ही यदि वहां धन होगा, तो दीपक जलाने वाले को स्वप्न के माध्यम से उसकी जानकारी हो जाती है ।।

स्वप्न में ही उसे खोदना है अथवा नहीं, यह भी निर्देश लगभग मिल जाता है । इसी प्रकार जहां धन का अंदेशा हो वहां एक छोटा सा स्थान स्वच्छ कर उस पर एक लकडी का पाटा रख दें ।।


उस पर एक नागरबेल का पान अथवा पीपल का पत्ता रखकर उस पत्ते पर एक पूजा की सुपारी रखकर उस पर हल्दी, कुंकुम, अक्षत आदि अर्पित कर उसके समक्ष घी का दीपक लगायें, जो कि 5-7 मिनट के लिये जलता रहे, और नित्य ऎसा करें निर्धारित दिनों तक ।।

प्रतिदिन पत्ते और सुपारी को प्रतिदिन किसी शुद्ध एवं स्वच्छ स्थान पर विसर्जन करें । इस प्रयोग को 40 दिनों तक इस प्रार्थना के साथ करें, कि यहां जो भी शक्ति विराजित हो, वो हमें सही मार्गदर्शन दे ।


ऐसा करने से यदि धन प्राप्ति के योग होंगे तो निश्चय ही प्रयोगकर्ता को शुभ संकेत प्राप्त होंगे । अति उत्साह में आकर अथवा किसी तांत्रिक के बताने पर धन लिकालने के लिये खुदाई आदि करना प्रारम्भ नहीं करें ।

ऎसा करने पर कभी-कभी गम्भीर समस्या उत्पन्न हो जाती है जो किसी गम्भीर मुश्किल में डाल देती है ।।

==============================================


==============================================


==============================================



==============================================



।।। नारायण नारायण ।।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.