Vastu Articles

वास्तु शास्त्र के अनुसार गर्भवती महिलाओं को घर के किस कोने में शयन करना चाहिए ? ।।

वास्तु शास्त्र के अनुसार गर्भवती महिलाओं को घर के किस कोने में शयन करना चाहिए ? ।। Garbhavati Mahilaon ke Liye Ghar Ka Kaun Sa Kona Achchha Rahega.
 Venkatesha Swami.

हैल्लो फ्रेंड्सzzz.






मित्रों, ज्योतिष, वेद एवं वास्तु के हर महत्वपूर्ण विषयों की जानकारी समय समय पर आपलोगों को देता रहता हूँ । तो फिर आज आइये मैं आपलोगों को एक ऐसी वास्तु टिप्स बता रहा हूँ, जिसकी शायद हर किसी के लिए जानना आवश्यक है ।।






वास्तु शास्त्र के अनुसार किसी भी गर्भवती महिला को घर के किस कोने में सोना चाहिए ???

मित्रों, वास्तु-शास्त्र के अनुसार घर के उत्तर-पश्चिम कोण को वायव्य कोण कहते है ।।

और इस कोण का तत्त्व वायु होता है, तथा आप सभी जैसा कि जानते हैं, कि वायु की प्रकृति स्वभाव से ही चंचल होती है ।।

मित्रों, वायब्य कोण का ग्रह देवता चन्द्रमा है, और चन्द्रमा भी चलायमान होता है ।।

सबसे बड़ी एवं गंभीर बात ये है, कि वायव्य कोण में सोने से किसी के भी जीवन में अस्थिरता आती चली जाती है ।।

और इसीलिए किसी भी गर्भवती महिला को इस कोण में नहीं सोना चाहिए, क्योंकि इस कोण में सोने से गर्भ-पात होने की संभावनायें बढ जाती है ।।

इसलिए मित्रों, आपलोगों में से जिस किसी दंपत्ति का कमरा घर के इस कोण में हो, उनको कुछ दिनों के लिए ही सही दुसरे कमरे में शयन करना चाहिए ।।


बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.