Astro Articles

ज्योतिष में महिलाओं के अनैतिक संबंध होने के योग ।।



ज्योतिष में महिलाओं के अनैतिक संबंध होने के योग ।। Women immoral relationships yoga in Astrology.


हम आज बात करेंगे, कि किस ग्रह की अंतर्दशा में जातक को जेल यात्रा, उसके धन का नाश एवं दीनता अर्थात अत्यंत गरीबी की प्राप्ति होती है ।। -  Plzzzz Like My Astro Classes Official facebook Page. & follow me on twitter. साथ ही बात करेंगे, पत्नी की मृत्यु अथवा शत्रु की दासी होने के योग के विषय में और परपुरुष से अनैतिक संबंध होने के योग के विषय में ।।

तो  प्लीज हमारे यूट्यूब पर चैनल को सब्सक्राइब करें  एंड विजिट माय ब्लॉग एंड  वेबसाइट.

मित्रों, साथ ही बात करेंगे, दशानाथ से सप्तम और अष्टम स्थान पर बैठे हुए ग्रह की तथा केन्द्र और त्रिकोण को छोड़कर अन्यत्र किसी भी एक राशि में दो, तीन या चार पाप ग्रह एक साथ बैठे हो तो उन ग्रहों की अंतर्दशा में क्या-क्या आपके साथ हो सकता है ।। मित्रों, आपकी कुंडली के अनुसार जिस ग्रह की दशा आपके ऊपर चल रही हो उस दशानाथ से सप्तम स्थान पर बैठे हुए ग्रह की अंतर्दशा में पत्नी की मृत्यु अथवा शत्रु की दासी होने का योग बनता है अथवा परपुरुष से अनैतिक संबंध होने का योग बनता है ।।

मित्रों, आपकी कुंडली के अनुसार जिस ग्रह की दशा आपके ऊपर चल रही हो उस दशानाथ से सप्तम स्थान पर बैठे हुए ग्रह की अंतर्दशा में पत्नी की मृत्यु अथवा शत्रु की दासी होने का योग बनता है अथवा परपुरुष से अनैतिक संबंध होने का योग बनता है ।। मित्रों, यदि आपकी कुंडली के अनुसार जिस ग्रह की दशा चल रही हो उस ग्रह के अर्थात दशानाथ से आठवें घर में बैठे ग्रह की अंतर्दशा में जातक की मृत्यु, धन नाश या फिर जेल यात्रा का योग बनता है ।।

मित्रों, यदि किसी कुंडली में केंद्र और त्रिकोण को छोड़कर अन्यत्र किसी भी एक राशि में दो, तीन या चार पाप ग्रह एक साथ बैठे हो तो उन ग्रहों की अंतर्दशा में जेल यात्रा, जातक का धन नाश एवं दीनता अर्थात अत्यंत गरीबी की प्राप्ति होती है ।। मित्रों, किसी कुंडली में जिस ग्रह की दशा चल रही हो उस ग्रह से चौथे स्थान में बैठे हुए ग्रह की अंतर्दशा में मित्रों को सुख और अपने सुख एवं सम्मान की वृद्धि होती है ।।

मित्रों, आप इस लेख को विडियो के रूप में YouTube पर देखने के लिए इस लिंक को क्लिक करें - https://youtu.be/AkTCh1Va0P0

=============================================
  
वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।। किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

==============================================

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call:   +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com


।।। नारायण नारायण ।।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.