Copy
Mantra Totka

मालामाल होने के लिये नहाते समय करें यह टोटका ।।

मालामाल होने के लिये नहाते समय करें यह टोटका ।। Nahate Samay Kare Yah Totka Malamal Ho Jayenge.


हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, आज मैं आपलोगों को एक ऐसा टोटका बता रहा हूँ, जिसे आपको स्नान करते समय करना है । इसको कुछ दिनों तक रोज नहाते समय करें । छोटा सा तांत्रिक उपाय है यकीन मानिये आप मालामाल हो जाएंगे ।।

वैसे तो अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रतिदिन नहाना बहुत आवश्यक होता है । लेकिन नहाते समय यदि एक छोटा उपाय करने से आपकी आर्थिक स्थिति भी सुधर जाए तो फिर इससे अच्छी बात हो सकती है ।।

इस एक छोटे से तांत्रिक उपाय को करें तो धन संबंधी मामलों की रुकावटें समाप्त हो जाती हैं । धन संबंधी मामलों में कई बार हम ईमानदारी से पूरी मेहनत करते हैं लेकिन सकारात्मक फल प्राप्त नहीं हो पाते हैं ।।

परिणामतः पैसों की तंगी बढऩे लगती है । ऐसे में अक्सर मन ख्याल आता है, कि मेहनत के बाद भी हमें उचित प्रतिफल प्राप्त क्यों नहीं हो रहा है ? आखिर कारण क्या हो सकती है ।।

इसके पीछे ज्योतिषीय दोष हो सकते हैं या किसी की बुरी नजर का दोष भी हो सकता है । यदि कुण्डली में किसी ग्रह दोष की बाधा है तो उसका उचित उपचार करना चाहिए ।।

परन्तु आज मैं एक ऐसा उपाय बता रहा हूँ, जिससे बुरी नजर के दोष और कुण्डली के भी सभी दोषों से राहत मिलती है । करना यह है, कि स्नान हेतु भरे बाल्टी के पानी पर अपनी तर्जनी अंगुली से त्रिभुज का निशान बनाएं ।।

इसके बाद एक अक्षर का बीज मंत्र "ह्रीं" पानी पर लिखें । इस प्रकार प्रतिदिन नहाने से पहले यह उपाय करें । इस तांत्रिक उपाय के संबंध में किसी प्रकार की कोई शंका या संदेह नहीं करना चाहिए ।।

शंका या संदेह करने से उपाय का प्रभाव निष्फल हो जाता है । तंत्र शास्त्र के अनुसार तांत्रिक उपाय बहुत जल्दी असर दिखाने वाले होते हैं । यदि कोई व्यक्ति सही तरीके से इन उपायों का प्रयोग करें तो ।।

इससे उसके घर की दशा ही बदल जाती है । ऐसा ही एक चमत्कारी उपाय है, नहाते समय करने वाला यह उपाय । इस उपाय के अनुसार जिस बाल्टी में हम नहाने का पानी लेते हैं उस पानी पर यह उपाय करना होगा ।।

इस उपाय से आपके आसपास की नकारात्मक शक्तियां निष्क्रीय हो जाती हैं और यदि आपके ऊपर किसी की बुरी नजर है तो वह भी उतर जाती है । इसके साथ ही कार्यों में आपको सफलता मिलने लगती है और मेहनत का सही फल प्राप्त होता है ।।

इस उपाय के साथ ही इष्टदेवी-देवताओं का भी पूजन-अर्चन करते रहना चाहिए । यह तो तांत्रिक उपाय है लेकिन शास्त्रों के अनुसार नहाते समय देवी-देवताओं के नामों का या उनके मंत्रों का उच्चारण भी किया जा सकता है ।।

यह उपाय बहुत ही लाभदायक होता है और इससे स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्यायें भी समाप्त हो जाते हैं । यदि कोई व्यक्ति किसी नदी में स्नान करता है तो उसे पानी पर ऊँ लिखकर पानी में तुरंत डुबकी मार लेना चाहिए ।।

इस उपाय से भी नदी में स्नान का अधिक पुण्य प्राप्त होता है । इसके अलावा आपके आसपास की नेगेटिव एनर्जी भी समाप्त हो जाती है । शास्त्रों के अनुसार प्रात:काल ब्रह्म मुहूर्त में नहाना श्रेष्ठ फल प्रदान करता है ।।

इसी वजह से हमेशा स्नान सूर्योदय से पहले ही करना चाहिए । नहाने के बाद प्रतिदिन सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए । सूर्य को जल चढ़ाने से मान-सम्मान की प्राप्ति होती है ।।

नहाते समय सबसे पहले सिर पर पानी डालना चाहिए इसके बाद पूरे शरीर पर । इसके पीछे भी वैज्ञानिक कारण है, इस प्रकार नहाने से हमारे सिर एवं शरीर के ऊपरी हिस्सों की गर्मी पैरों से निकल जाती है ।।

काफी लोग नहाने से पहले शरीर की अच्छी मालिश करते हैं । मालिश से स्वास्थ्य और त्वचा दोनों को ही लाभ प्राप्त होता है और त्वचा की चमक बढ़ती है । इस संबंध में यह ध्यान रखना चाहिए कि मालिश के आधे घंटे बाद शरीर को रगड़-रगड़ कर नहाना चाहिए ।।

ज्योतिष के सभी पहलू पर विस्तृत समझाकर बताया गया बहुत सा हमारा विडियो हमारे  YouTube के चैनल पर देखें । इस लिंक पर क्लिक करके हमारे सभी विडियोज को देख सकते हैं - Click Here & Watch My YouTube Channel.

इस तरह की अन्य बहुत सारी जानकारियों, ज्योतिष के बहुत से लेख, टिप्स & ट्रिक्स पढने के लिये हमारे ब्लॉग एवं वेबसाइट पर जायें तथा हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें, प्लीज - My facebook Page.

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call: +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.