Astro Articles

लॉटरी, शेयर बाजार, गुप्त धन तथा गिफ्ट मिलने से लेकर राहू की मारक दशा के निवारणार्थ तक करें ये आसन सा उपाय ।।



लॉटरी, शेयर बाजार, गुप्त धन तथा गिफ्ट मिलने से लेकर राहू की मारक दशा के निवारणार्थ तक करें ये आसन सा उपाय ।। Lotteries, stock market, and to achieve the secret funds which measures the position. - Astro Classes, Silvassa.


हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz, मित्रों, हम सभी जानते है, कि भगवान श्री गणेश जी विघ्नहर्ता है । तो आईये आज हम आप सभी को बताते हैं, कि गणेश जी के द्वादश (बारह) नामों के बारे में जिन के जप करने मात्र से ही हमारे जीवन में आनेवाली हर छोटी-बडी समस्या का निवारण आसानी से हो जाता है । यह साधना सभी लोग अपनी हर छोटी-बडी समस्या के निवारण हेतु कर सकते है ।।

साधना की विधि ये है, कि प्रात: काल स्नान आदि से निवृत होकर गणेश जी की प्रतिमा या तस्वीर के सामने पूर्व या उत्तर दिशा की तरफ़ मुख करके स्वच्छ आसन पर बैठ जायें । उसके बाद घी का दीपक जलाकर गणेशजी की चंदन, पुष्प, धूप-दीप और नैवेद्य से पूजन करें । फ़िर इस द्वादश नामों के उच्चारण के साथ-साथ दुर्वा चढाकर गणेशजी को अपनी समस्या के निवारण हेतू प्रार्थना करते जायें ।।
ये एक मन्त्र जिसमें श्री गणेशजी के द्वादश नाम आ जाते है । इस मन्त्र का यथाशक्ति हर रोज अधिक से अधिक जप करें ।।

ॐ सुमुखश्चैकदन्तश्च कपिलो गजकर्णक: ।
लंबोदरश्च विकटो विघ्ननाशो विनायक: ।।
धूम्रकेतुर्गणाध्यक्षो भालचंद्रो गजानन: ।
द्वाद्शैतानि नामानि य: पठेच्छुणुयादपि: ।।

प्रात: काल श्री गणपति जी के बारह नामों का स्मरण करने से सभी मनोरथ पूर्ण होते हैं ।।


द्वादश नाम: ।।

१) ॐ सुमुखाय नम: ।।
२) ॐ एकदंताय नम: ।।
३) ॐ कपिलाय नम: ।।
४) ॐ गजकर्णाय नम: ।।
५) ॐ लंबोदराय नम: ।।
६) ॐ विकटाय नम: ।।
७) ॐ विघ्ननाशाय नम: ।।
८) ॐ विनायकाय नम: ।।
९) ॐ धूम्रकेतवे नम: ।।
१०) ॐ गणाध्यक्षाय नम: ।।
११) ॐ भालचंद्राय नम: ।।
१२) ॐ गजाननाय नम: ।।


अथवा:-

श्री नारदपुराणे गणेशस्तोत्रम् ।।

।। श्री गणपति द्वादश नाम ।।

प्रथमं वक्रतुण्डं च एकदन्तं द्वितीयकम् ।।
तृतीयं कृष्णपिङ्गाक्षं गजवक्त्रं चतुर्थकम् ।।
लम्बोदरं पञ्चमं च षष्ठं विकटमेव च ।।
सप्तमं विघ्नराजेन्द्रं धूम्रवर्णं तथाष्टमम् ।।
नवमं भालचन्द्रं च दशमं तु विनायकम् ।।
एकादशं गणपतिं द्वादशं तु गजाननम् ।।
द्वादशैतानि नामानि त्रिसन्ध्यं य पठेन्नर : ।।
न च विघ्नभयं तस्य सर्वसिध्दिकरं परम् ।। वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।


==============================================

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।। संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call:   +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com


।।। नारायण नारायण ।।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.