Tantra Totake

रावण एवं वाराह संहिता के अनुसार गुप्त धन का खजाना कहां छिपा होता है ? Tips for getting the black money.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,


मित्रों, जैसा की हमने अपने पिछले लेख में चर्चा किया था, कि जीवन में खजाना पाना सभी चाहते हैं । परन्तु खजाना हर किसी को मिल जाय ये संभव नहीं होता । हमारे कुछ तन्त्र शास्त्रों में इस विषय में कुछ वर्णन अवश्य मिलते हैं । जैसे अचानक धन लाभ होने से पहले आपको कुछ इशारे मिलते हैं ।।

रावण संहिता और वाराह संहिता के अनुसार गुप्त खजाना कहां छिपा होता है ? इस बात को पता करने के कई उपाय बताए गए हैं । एक बात अत्यन्त आवश्यक है आपके लिये जानना की जिस भी स्थान पर अपार धन, जैसे सोना-चांदी, हीरे-मोती आदि छिपे या दबे होते हैं वहां कोई-न-कोई सफेद नाग अथवा बहुत पुराना नाग अवश्य दिखाई दे देगा ।।

मित्रों, कहीं-कहीं तो नागों के झूंड भी ऐसे गुप्त खजानों की रक्षा करते हैं । ऐसे नागों का दिखाई देना इस बात की ओर इशारा करता है कि उस क्षेत्र में कहीं-न-कहीं कोई गुप्त खजाना दबा हो सकता है । कईं साल पुराने खण्डहर टाइप के जो मकान होते हैं, उसमें भी इस प्रकार का कोई खजाना छुपा हो सकता है ।।

ऐसे घरों में उनके पूर्वजों के समय से ही छिपाये गये धन ज्यों के त्यों पड़ें हो सकते हैं । ऐसे घरों में जहाँ सालों से कोई खुदाई या नव निर्माण नहीं किया गया हो ऐसी जगहों पर भी खजाना या गड़ा धन हो सकता है । पूराने किलें जहां कभी राजा-महाराजा रहा करते थे । इस प्रकार के पुराने राजभवनों में भी खजाना छुपा हो सकता है ।।

मित्रों, इसके पीछे एक कारण है, क्योंकि वहां पर इस प्रकार के धन के रक्षक शक्तियों को परेशान करने वाला कोई नहीं होता । इंसानो से दुर इनकी अपनी अलग दुनियाँ ही होती है । जंगलों में भी ऐसे खजाने मिलते हैं क्योंकि हमारे पूर्वजों का ज्यादातर समय युद्ध में अथवा जंगलों में ही बितता था ।।

पहले के लोग जबकि कोई बैंक वगैरह तो था नहीं, इसलिये अपने धन की रक्षा के लिए वो उसे जमीन में छुपा दिया करते थे । कुछ मान्यताओं के अनुसार व्यक्ति अपने धन के मोहवश मौत के बाद सांप के रूप में जन्म लेकर उसी जगह बस जाते हैं जहाँ उन्होंने पिछले जन्म में अपना धन छिपाया था एवं अपने उस धन की रक्षा करते हैं ।।

मित्रों, सपने बताते हैं ऐसे सांप (नाग) अथवा इस प्रकार के खजाने के बारे में । जब भी आपको सपने में सफेद सांप दिखाई दे तों समझिए खजाना नहीं तो कम-से-कम आपको अचानक धन लाभ तो होने ही वाला है । हमारे पितृगण नाग के रूप में विचरण करते हैं और योग्य व्यक्ति को ही वो भी सपने में दर्शन देते हैं ।।

अगर आपको सपने में सफेद नाग-नागिन का जोड़ा दिखे अथवा किसी घर में या किसी स्थान विशेष पर दिखें उस जगह पर आपके पूर्वजों द्वारा रखा गया गड़ा धन हो सकता है । अगर सपने में फूल दिखाई दे तो भी आपको अचानक धन लाभ, खजाना या कहीं से गड़ा धन मिलने का संकेत होता है ।।

रावण संहिता के अनुसार आपको सपने में अगर कमल का फूल दिखाई दे तो ये अचानक कहीं से आपको बड़ा फायदा होने का संकेत है । अगर आप सपने में में इन्द्र धनुष के साथ कमल को देखते हैं यानी इन्द्र धनुष दिखे और कमल का फूल आपके हाथ हो इस प्रकार का स्वप्न हो तो आने वाले 45 दिनों में ही आपको इस सपने का फल देखने को मिल जाता है ।।

अगर आप सपने में कमल के पत्ते पर भोजन करते हुए खुद को देखते हैं तो आपको आने वाले कुछ ही दिनों में छुपा हुआ धन का बड़ा लाभ होता है । अगर सपने में कलश, शंख और सोने के गहने दिखे तो आपको अचानक धन लाभ अवश्य ही होगा । रावण संहिता के अनुसार कलश, शंख और गहने आदि मंगल चीजें सपने तभी आती है जब आप पर माँ लक्ष्मी प्रशन्न होती हैं ।।

==============================================

वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

==============================================

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।

==============================================

संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केंद्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap+ Viber+Tango & Call: +91 - 8690522111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com

Website :: www.astroclasses.com
www.astroclassess.blogspot.com
www.facebook.com/astroclassess

।। नारायण नारायण ।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.