Home Vastu Tips

ब्यूटी पार्लर की ब्यूटी सजायें इस वास्तु टिप्स से ।।



ब्यूटी पार्लर की ब्यूटी सजायें इस वास्तु टिप्स से ।। Beauty Parlour Ki Beauty Kaise Banayen.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, वास्तुशास्त्र एक संपूर्णतः विज्ञान है । भूगर्भ की अनुकूलता-प्रतिकूलता के अनुसार अपने रहने के स्थान को अपने अनुकूल बनाने की स्थिति को ही वास्तु विज्ञान कहते हैं ।।

जैसे सड़क पर लगे पत्थर और डामर को घर में टाइल्स की जगह और टाइल्स को सड़क पर लगाने वाले पत्थर की जगह लगाने से क्या होगा ये आप सभी जानते हैं ।।

ठीक उसी प्रकार घर की कौन सी दिशा किसलिये उपयोगी है, इस बात को जानकर अगर हम अपने घर को सजायें तो हमारे जीवन में मुसीबते नहीं आयेंगी ।।

वैसे ही आप अपने व्यापार, दुकान, मकान या फिर अपने उद्योगों को भी अपने अनुकूल बना सकते हैं और उससे अपना कार्य सिद्ध कर सकते हैं ।।

मित्रों, आज हम आपलोगों को वास्तु शास्त्र के अनुसार ब्यूटी पार्लर को लाभदायक कैसे बनाया जा सकता है, इस विषय को स्पष्टता से बतायेंगे ।।

तो चलिये देखते हैं, मित्रों, ब्यूटी पार्लर को विस्तृत बनाने के लिये आग्नेय कोण [दक्षिण-पूर्व] को प्रधानता देना चाहिये ।।

ब्यूटी पार्लर को विकसित कर उसे विस्तृत बनाकर उससे ज्यादा-से-ज्यादा पैसे कमाने के लिए ब्यूटी पार्लर के आग्नेय कोण में सदैव ही एक केंडल या बल्ब जलाकर रखना चाहिये ।।

इसका रिसेप्शन ईशान कोण (पूर्वोत्तर दिशा में) अथवा पूर्व या फिर उत्तर में बनाना श्रेयस्कर होगा अर्थात ज्यादा फायदेमन्द होगा ।।

मित्रों, किसी भी ब्युटिशियन को चाहिये कि अपने ब्यूटी पार्लर के मुख्य प्रवेश द्वार पर अंदर की ओर गणपति की मूर्ति स्थापित करे ।।

अपने व्यापार का कैश काउन्टर उत्तर दिशा में उत्तर की ओर मुंह करके रखना चाहिये । कैश काउन्टर के आस-पास मछली घर रखकर धन समृद्धि को आकर्षित कर सकते हैं ।।

अगर आप अपने पार्लर के अन्दर शौचालय रखना चाहें तो इसे सदैव पश्चिम में बनाएं । स्टीम बाथ को आग्नेय कोण में और पेंट्री को भी आग्नेय कोण में ही बनवायें ।।

पार्लर के मुख्य मालिक को नैऋत्य कोण में उत्तर की ओर मुंह करके बैठना चाहिये । आपके पार्लर का मुख्य दर्पण जिसके सामने अपने ग्राहकों की सेवा करते हैं, उसे उत्तर और पूर्व की दीवाल में लगा सकते हैं ।।

वाश बेशिन को कमरे के इशान कोण में लगाना चाहिए । ब्यूटी पार्लर के लिए और कोई स्थान छुट गया हो तो आप हमें नि:संकोच बता सकते हैं ।।


  
वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।


संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call:   +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com


।।। नारायण नारायण ।।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.