Vedic Articles

सभी मनोकामनाओं को सिद्ध करने वाला यह पाँच वस्तु आपके घर में है ?।।



सभी मनोकामनाओं को सिद्ध करने वाला यह पाँच वस्तु आपके घर में है ?।। In Panch Vastuon Se Hoti Hai Manokamanaon Ki Purti.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,
मित्रों, कुछ वस्तुयें जो सदैव हमारे घर में या हमारे आसपास ही होते हैं । परन्तु हम उन्हें कभी गंभीरता से नहीं लेते । अगर हम उनके उपर एकबार ध्यान दे दें, तो शायद हमारी किस्मत बदल जाय । जैसे एक किसान के घर एक दरवाजे पर पत्थर पड़ा था । वो और उसके परिवार वाले उसे किल वगैरह ठोकने के काम में उपयोग करते थे ।।

एक दिन कोई महात्मा जी उधर से निकल रहे थे । महात्मा जी को प्यास लगी और उसी किसान के घर में पानी मांगने चले गये । उस किसान का भी किस्मत उसी दिन खुलना था । महात्मा जी ने पानी पीकर सोंचा इसका कुछ कल्याण करते चलें । तो उनकी दृष्टि उस पत्थर पर पड़ी उसे उठाकर गौर से देखा । पूछा बच्चा यह क्या है और इसे तुम किस काम में प्रयोग करते हो ?।।

मित्रों, किसान ने कहा महाराज मुझे तो याद नहीं कई पीढ़ियों से हमारे घर में पड़ा है । इसे किल वगैरह ठोकने के काम में उपयोग कभी-कभार कर लेते हैं बाकि ये किस काम का है ? महात्मा जी ने कहा अरे मुर्ख यह तो पारस पत्थर है, जिसे लोहे से स्पर्श करो तो सोना बन जाय । फिर जब प्रयोग करके दिखाया महात्मा जी ने तब वो किसान और उसके सम्पूर्ण परिवार अचंभित और आश्चर्य चकित रह गये ।।

ठीक उसी प्रकार कुछ ऐसी वस्तुयें हमारे अगल-बगल में होती हैं जिनका महत्त्व जानें बिना हम दरिद्र रह जाते हैं और यदि जान जायें तो मालामाल हो जायें । आइये ऐसी ही कुछ वस्तुओं के विषय में आज हम बताते हैं जो सहजता से आपके पास उपलब्ध हैं । उन 5 पवित्र वस्तुओं को अगर नहीं हो तो कहीं से लाकर भी अपने घर में अवश्य रखना चाहिये ।।

मित्रों, उन पाँच वस्तुओं में पहला है चन्दन । जी हाँ चन्दन बहुत ही पवित्र माना गया है । इसकी सुगन्ध से आपके घर कि वातावरण की नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है । सभी देवी-देवताओं की पूजा में भी चंदन का विशेष महत्व है । चंदन का तिलक भी लगाया जाता है और लगाना भी चाहिये । क्योंकि इसके तिलक से मन और मस्तिष्क को शांति मिलती है ।।

दूसरा वीणा घर में अवश्य ही रखना चाहिये । क्योंकि इससे बुद्धि और शिक्षा की देवी सरस्वती प्रशन्न होती है ये उनका प्रिय वाद्य यंत्र है । वीणा घर में रखेंगे तो सरस्वती की कृपा से सभी सदस्यों की बुद्धि का विकास होगा । मुश्किल परिस्थियों में भी धैर्य बनाए रखने की प्रेरणा मिलेगी । घर का कलह लगभग समाप्त हो जायेगा और घर के सभी सदस्यों में आपसी सहमति बनी रहेगी । आज टूटते परिवारों को रोकने में बहुत ही सहायक सिद्ध होगा ।।

मित्रों, उनमें से वो तीसरा वस्तु है घी । शुद्ध देशी गाय का घी घर में हमेशा रखना चाहिए और थोड़ा ही सही नियमित रूप से इसका सेवन करते रहना चाहिए । घी से शक्ति मिलती है और शरीर स्वस्थ रहता है । घर में रोज शाम को घी का दीपक भी जलाना चाहिए ।।

पूजा एवं कई जड़ रोगों के उपचार हेतु भी घी का अत्यधिक महत्व बताया गया है । इसलिये घी को अनिवार्य रूप से घर में रखना चाहिये और किसी गंभीर रोगों के उपचार हेतु घी का सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेना चाहिए ।।

चौथा वस्तु है शहद, वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में शहद रखने से वास्तु के कई दोष शांत हो जाते हैं । साथ ही, पूजन में भी शहद जरूरी होता है । ये सभी देवी-देवताओं को भी प्रिय होता होता है । देवी भागवत के अनुसार देवी को शहद चढ़ाने से घर कि दरिद्रता मिट जाती है एवं सर्तोमुखी विकास होता है । कई रोगों एवं कई प्रकार के कुण्डली के दोषों कि शान्ति हेतु शिव लिंग पर शहद का लेप फायदेमंद साबित होता है ।।

मित्रों, अंतिम और पांचवा है पानी, घर में सदैव स्वच्छ जल भरा रहना चाहिए । जब भी कोई मेहमान घर आए तो सबसे पहले उसे पीने के लिए शीतल जल अवश्य देना चाहिए । इससे जन्म कुण्डली के कई दोष दूर होते हैं । जल में भी कई प्रकार के जल होते हैं, जैसे गंगा का जल । समुद्र एवं जितने तीर्थ हैं उन सभी तीर्थों के जल का भी संचय करके अपने घर में रखना चाहिये । इससे किसी भी प्रकार की कोई उपरी बाधा घर में कदापि प्रवेश नहीं कर पाती ।।


  
वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।


संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call:   +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com


।।। नारायण नारायण ।।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.