Vedic Articles

बच्चों को कैसे बनायें तेजस्वी, तीव्र स्मरण शक्ति एवं कुशाग्र बुद्धि वाला विद्यार्थी ।।



बच्चों को कैसे बनायें तेजस्वी, तीव्र स्मरण शक्ति एवं कुशाग्र बुद्धि वाला विद्यार्थी ।। Childrens develop faster memory power and acumen.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz,

मित्रों, इस संसार में सबकुछ सम्भव है । कुछ भी ऐसा नहीं जो सम्भव ना हो । बश आवश्यकता है अपने जरूरतों के अनुसार उपाय को जानने की । साथ ही किसी भी उपाय को जानकार उसमें आनेवाली कठिनाईयों को झेलने की । फिर उस उपाय को तन-मन-धन से तत्पर होकर करने की । सफलता तो अवश्य ही मिलेगी, हाँ भले ही एक-दो बार असफल हों तो हों, पर सफलता तो एक न एक दिन मिलनी ही है ।।

आज मैं बहुत से मित्रों के कहने पर बच्चों की जिंदगी में आ रहे सुस्ती एवं आलस्य तथा पाश्चात्य देशों द्वारा प्रसारित कार्टून चैनलों के माध्यम से अश्लीलता के द्वारा बढ़ते हुए असफलता से निजात पाने हेतु उपाय का वर्णन कर रहा हूँ । कुछ ऐसे सरल उपाय जिससे हम अपने बच्चों को संस्कारी, तीव्र स्मरण शक्ति से युक्त एवं कुशाग्र बुद्धि से सम्पन्न बना सकते हैं ।।

मित्रों, यदि आपके बच्चों का पढाई में मन नहीं लगता या फिर पढने के बावजूद वह अपने पाठ को याद नहीं रख पाता तो अब आप घबरायें नहीं । आज हम आपको कुछ ऎसे उपाय बताने जा रहे हैं जिससे आपके बच्चो का पढाई में मन भी लगेगा और साथ ही उसे सब कुछ याद भी रहेगा । ये कुछ ऐसे सरल उपाय हैं, जिन्हें अपनाकर आप अपने बच्चों को पढाई में अग्रणी बना सकते हैं ।।

पहली बात तो वास्तु से सम्बंधित है, जिसे आपको अवश्य ही करना चाहिये । अपने बच्चों की अच्छी पढाई के लिए उनके स्टडी टेबल को सदैव ही अपने घर के पूर्व के कोने में ही रखें । ध्यान रखें कि उसका स्टडी टेबल इस तरह से रखा जाना चाहिये कि पढाई करते समय आपके बच्चे का मुंह पूर्व दिशा की ओर ही रहे । अन्य किसी भी दिशा की ओर उसका मुँह नहीं होना चाहिये ।।

मित्रों, एक मुख्य बात बच्चों को पढाई में अग्रणी बनाने के लिए उन्हें स्कुल जाते समय अथवा घर में भी पढ़ाई शुरू करने से पहले कम से कम चौबीस बार गायत्री मंत्र का पाठ करवायें । इससे स्मरण शक्ति तीव्र बनती है और बच्चा जो भी पढ़ता है उसे याद रहती है । इसके अलावा पढते समय बच्चों के सिर पर पिरामिडिकल कैप लगाएं । इससे भी उसका याद किया हुआ पाठ उसे हमेशा के लिए याद हो जाता है तथा उसकी बुद्धि का भी विकास होता है ।।

बच्चों के पढ़ाई वाले कमरे में उत्तर-पूर्व दीवार पर कुछ इंटेलिजेंट एवं सफल तथा उसके आगे के क्लास के टॉपर बच्चों की तस्वीरें लगायें । उन बच्चों को दिखाकर उनसे उनका परिचय करवायें और बतायें कि सफलता ही व्यक्ति की पहचान होती है । स्वामी विवेकानन्द, राम एवं कृष्ण की तस्वीरें भी लगायें और उनकी शिक्षा एवं सफलता के विषय में भी बतायें ।।

मित्रों, ऎसा करने से बच्चों में सकारात्मक विचारों का उदय होता है एवं उनका मन प्रफुल्लित रहता है । इससे आपके घर में खुशियां आएंगी और आपके बच्चों का करियर अच्छा बनेगा । इन उपायों को अपनाकर आप अपने बच्चे को एक अच्छा करियर दे सकते हैं और उनको उनके जीवन में सफल बना सकते हैं ।।


  
वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।

किसी भी तरह के पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं ।।


संपर्क करें:- बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा ।।

WhatsAap & Call:   +91 - 8690 522 111.
E-Mail :: astroclassess@gmail.com


।।। नारायण नारायण ।।।

बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.