Astro Articles

व्यापार वृद्धि के सरल एवं साधारण टोटके ।।



व्यापार वृद्धि के सरल एवं साधारण टोटके ।। totke for business growth.

हैल्लो फ्रेण्ड्सzzz, 


मित्रों, अगर आपका व्यापार ठीक-ठाक चलते-चलते अचानक ठप्प हो गया है ? किसी की बुरी नजर लग गयी है या किसी ने कुछ कर करवा दिया हो ? तो आप घबरायें नहीं, आप इन सरल एवं साधारण से उपायों को अपनायें । आपकी समस्या का तत्काल एवं आसानी से हल हो जायेगा । आपके दुकान में ग्राहकों की भीड़ लग जाएगी आप विश्वास रखें ।। कच्चा सूत सफ़ेद रंग का आप ले लें और उसे शुद्ध देशी केशर से रंगकर अपने व्यापार स्थल की तिजोरी में उसे गौरी माता को लपेटकर रख दें । मित्रों, जो गोबर के ऊपर गौरी माता को बनाया जाता है, और उन्हें कुलदेवी के रूप में पूजा जाता है । अथवा अपनी कुलदेवी की मूर्ति के साथ भी रख सकते हैं इससे आपके व्यापार में तत्क्षण उन्नति का योग बनेगा और आपकी समस्या का समाधान हो जायेगा ।।

मित्रों, अगर आपके घर में श्यामा तुलसी हों, अगर न हों तो कहीं से लाकर उन्हें लगायें । उसके बाद उन तुलसी के आस पास अपने आप पैदा होने वाली खरपतवार को निकाल लें । गुरुवार के दिन सुबह नहा-धोकर नित्य क्रिया से निवृत्त होकर उन खर-पतवारों को निकालकर एक पीले कपड़े में बांध लें । अब इसे अपने व्यापार स्थल पर स्थापित करें विश्वास रखें आपके व्यापारिक प्रतिष्ठान में भीड़ लगेगा ।। धर्म का दूसरा नाम ही विश्वास है, अत: यदि आपके व्यवसाय में बार-बार घाटा हो रहा है तो किसी भी महीने के शुक्ल पक्ष के प्रथम बुधवार के दिन व्यापार वृद्धि यंत्र को अपने दुकान में पूजा स्थान के उत्तर दिशा में स्थापित करें । अब हर रोज दीपक जलाकर माता लक्ष्मी के बीज मंत्र का जप करें । ऐसा नियमित 41 दिन तक करना है, साथ ही एक और उपाय करें । एक दाना 13 मुखी रूद्राक्ष लाल धागे में पिरोकर गले में धारण करें व्यापार में वृद्धि होगी ।।

मित्रों, आप अपने लिए जो नास्ता बनाते हैं, उसी नास्ते का भोग घर में स्थापित भगवान को लगायें । गुरुवार को भगवान को भोग बनाने के उपरान्त रोटी का चोकर को एक कपड़े में गठरी बनाकर उसमें बांधकर अपने दुकान की चौखट पर बाँधने से ग्राहक आकर्षित होते हैं । अपने दुकान पर जाते समय इत्र अवश्य लगा कर जाएं लाभ होगा ।। भगवान श्री गणेश जी के 108 नामों का जप सुबह दुकान खोलते ही करें इससे आपके दैनिक व्यापार में उन्नति होगी । अपनी कमार्इ में से घर के मंदिर में प्रतिदिन कुछ धन अवश्य निकालें फिर काम पर जायें । घर के मन्दिर में रखें गये पैसों को पत्नी को दे दिया करें ऐसा करने से आपके व्यापार की दैनिक आय में बढ़ोत्तरी होगी ।। वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।


बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.