Totake

आपके घर अथवा भूखण्ड के आजू-बाजू में श्मशान हो तो ये उपाय करें ।।



अगर आपके घर अथवा भूखण्ड के आजू-बाजू में श्मशान हो तो ये उपाय करें अपने एवं अपने परिवार की भलाई के लिए ।। Ghar Ke Baju Me Shmashan Ho To Kare Ye Saral Upay.


हैल्लो फ्रेंड्सzzzzz.  मित्रों, अगर आपके भवन या भूखंड के आस पास शमशान घाट है तो यह एक प्रकार का गम्भीर वास्तु दोष है । नये भूखंड लेने से पहले आप यह सुनिश्चित कर लें कि आस पास कोई नकारात्मक उर्जा ना हो । अगर घर के आस पास इस तरह का कोई नकारात्मक उर्जा मौजूद है तो निम्न उपाय करके उसके दु:ष्प्रभाव को कुछ कम कर सकते हैं ।।   जिस दिशा में श्मशान घाट हो, उस दिशा में अपना मुख्य द्वार कभी ना रखें । अगर पहले से हो तो उसको हटाकर दूसरी ओर कर दें । नकारात्मक उर्जा की ओर यदि कोई भी खिड़की भी हो तो उसे भी तुरंत बंद कर दें । नकारात्मक उर्जा की दिशा की दीवाल के उपर किसी गहरे रंग से पेंट करें । शमशान घाट की ओर हमेशा तेज रोशनी वाली बल्ब लगाकर ज्यादा से ज्यादा प्रकाश करके रखें ।।

 शमशान घाट की ओर यदि कुछ जगह खाली है तो भूखंड के अंदर और बाहर की ओर बड़े- बड़े पेड़-पौधे लगाकर घर और उस उर्जा के बीच एक अवरोध खड़ा कर दें । अगर खाली जगह न हो तो अपने जमीन में से कुछ खाली जगह छोड़कर उसमें बड़े-बड़े पेड़ लगायें ताकि श्मशान से प्रवाहित होनेवाली नकारात्मक उर्जा और आपके घर के बीच एक अवरोध खड़ा हो सके ।।   अपने पोर्च लाइट को हमेशा जलाकर रखें एवं अपने मुख्य द्वार को भी गहरे रंग से रंग दें ताकि सामने से भी कोई मौका न मिले किसी भी तरह की नकारात्मक उर्जा को प्रवेश न मिल सके । घर के अंदर ज्यादा-से-ज्यादा सूर्य का प्रकाश सरलता से आ सके इसकी पूरी व्यवस्था करें । अपने गार्डन की लाईट को भी हमेशा जलाकर रखें तथा अपनी बाऊन्ड्री वाल को भी गहरे रंग से रंग दें ।।

 अपने छत के उपर लाल रंग की टाईल्स लगायें एवं गार्डन के अंदर बोल्डर पत्थर का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करें । अगर आप इसमें से कुछ भी नहीं कर पा रहे हैं तो फिर उस मकान को बेच  कर किसी अच्छे और खुशहाल स्थल को चुनें और वहां चले जाएँ ।।  वास्तु विजिटिंग के लिये तथा अपनी कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें ।।


बालाजी वेद, वास्तु एवं ज्योतिष विद्यालय, सिलवासा ।।

कुण्डली दिखाकर उचित सलाह लेने एवं अपनी कुण्डली बनवाने तथा वास्तु विजिटिंग के लिये अथवा किसी विशिष्ट मनोकामना की पूर्ति के लिए संपर्क करें । पूजा-पाठ, विधी-विधान, ग्रह दोष शान्ति आदि के लिए तथा बड़े से बड़े अनुष्ठान हेतु योग्य एवं विद्वान् ब्राह्मण हमारे यहाँ उपलब्ध हैं । ज्योतिष पढ़ने के लिये संपर्क करें - बालाजी ज्योतिष केन्द्र, गायत्री मंदिर के बाजु में, मेन रोड़, मन्दिर फलिया, आमली, सिलवासा।।

0 comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

BALAJI VED VIDYALAYA, SILVASSA.. Powered by Blogger.